You'll also like

मेरे अन्य ब्लॉग

रविवार, 31 जुलाई 2011

भौर्याल ने किया भवन व छात्रावास का शिलान्यास



नर्सिग होम स्कूल का होगा कायाकल्प
नैनीताल (एसएनबी)। मुख्यालय में पुनर्जीवित किये जा रहे 1967 में बने मेडिकल कालेज के बीडी पांडे राजकीय नर्सिग स्कूल के रूप में नये स्वरूप को सुविधा संपन्न किये जाने की कवायद शुरू हो गई है। स्कूल में करीब 10 करोड़ रुपये नये भवन व छात्रावास के निर्माण, उपकरणों व कर्मचारियों के वेतन के लिए अवमुक्त किये गये हैं। इसी धनराशि से प्रस्तावित निर्माणों का प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री बलवंत सिंह भौर्याल ने रविवार को शिलान्यास किया। इस मौके पर उन्होंने दावा किया कि कायरे की डीपीआर तैयार की जा रही है, जबकि भवन व छात्रावास निर्माण के लिए Rs5.35 करोड़, फर्नीचर व उपकरणों के लिये Rs2.6 करोड़ व वेतन के लिये Rs2.05 करोड़ अवमुक्त हो गये हैं। हालांकि चिकित्सा विभाग के अधिकारी केवल 26 लाख रुपये ही टोकन मनी के रूप में मिलने की बात कर रहे थे। इससे पूर्व उन्होंने पशु कल्याण बोर्ड उपाध्यक्ष शांति मेहरा, विधायक खड़क सिंह बोहरा के साथ पूजा-अर्चना के साथ निर्माण कायरे का शिलान्यास किया। इस मौके पर सिस्टर ललिता बिष्ट ने नसरे के लिये अलग निदेशालय की मांग के साथ ही नसरे की विभिन्न समस्याएं मंत्री के समक्ष रखीं। भाजपा नेता दिनेश आर्य, हेम चंद्र आर्य, विधायक सहित अन्य नेताओं ने विचार रखते हुए प्रदेश सरकार द्वारा चिकित्सा शिक्षा के क्षेत्र में किये जा रहे कायरे का बखान किया। इस मौके पर निदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य डा. जेसी दुर्गापाल, सीएमओ डा. डीएस गब्र्याल, सीएमएस डा. एनएस भाट व डा. पंकज माथुर, मीनाक्षी नयाल आदि मौजूद थे।
लापरवाह है अवस्थापना विकास निगम : भौर्याल
नैनीताल। प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा व सहकारिता मंत्री बलवंत सिंह भौंर्याल ने राज्य के अवस्थापना विकास निगम को नकारा करार दिया। उन्होंने कहा कि निगम को अल्मोड़ा मेडिकल कालेज का कार्य दिया गया पर वह डेढ़ वर्ष में इसकी डीपीआर तक नहीं बना पाया। इसी कारण नैनीताल में नर्सिंग स्कूल के छात्रावास व भवनों का निर्माण कार्य यूपी राज्य निर्माण निगम को दे दिये हैं। उन्होंने यूपी निगम के माध्यम से यहां निर्माण कार्य एक वर्ष के भीतर पूरे करा लेने का दावा भी किया। निर्माण एजेंसी यूपी राज्य निर्माण निगम से एक वर्ष में कार्य पूरा कराने का समयबद्ध बांड भरा गया है, कार्य पूरा न हुआ तो निगम से पेनाल्टी वसूल की जाएगी।

एक टिप्पणी भेजें