You'll also like

मेरे अन्य ब्लॉग

मंगलवार, 5 जुलाई 2011

केएमवीएन को पर्यटन के लिए 91 करोड़


कर्मचारियों के स्टाफिंग पैटर्न का होमवर्क पूरा : शर्मा
नैनीताल (एसएनबी)। कुमाऊं मंडल विकास निगम (केएमवीएन) को संसाधनों व पर्यटन सर्किटों को विकसित करने के लिए सरकार 91.5 करोड़ रुपये की राशि देगी। इसमें से 15-15 करोड़ रुपये निगम को अपनी टीआरएच के सुधार के लिए तीन वर्षो में, 42 करोड़ कुमाऊं में छह नये पर्यटन सर्किटों के लिए, तीन करोड़ छोटे कायरे व डेढ़ करोड़ रुपये ऊंचाई वाले क्षेत्रों में ट्रेकिंग रूट विकसित करने के लिए दिये जाएंगे। इस आशय की घोषणा प्रमुख सचिव पर्यटन राकेश शर्मा ने की। इसके अलावा प्रमुख सचिव ने निगम में करीब 1100 कर्मियों के स्टाफिंग पैटर्न का खाका भी खींच लिया है। मंगलवार को निगम के ओक पार्क स्थित मुख्यालय में निगम के अधिकारियों की बैठक के बाद प्रमुख सचिव पर्यटन श्री शर्मा ने पत्रकारों को यह जानकारी दी। उन्होंने दावा किया कि 15 अगस्त तक निगम का नया कर्मचारी ढांचा बन जाएगा। इसके तहत निगम में दो जीएम-पर्यटन तथा प्रोजेक्ट व मार्केटिंग, पांच जोनल एजीएम तथा तीन डीजीएमिसविल, मैकेनिकल-इलेक्ट्रिकल व डिजाइन- प्लानिंग होंगे। निगम के हर कर्मी को अपने सेवा काल में तीन से चार पदोन्नतियां मिलेंगी। जीएम पर्यटन का पद किसी पेशेवर को दिया जाएगा, जबकि पीसीएस अफसर को जीएम-प्रोजेक्ट व मार्केटिंग की जिम्मेदारी दी जाएगी। उन्होंने बताया कि नये स्टाफिंग पैटर्न के तहत निगम में संविदा-जॉब वर्क के तौर पर कार्यरत सभी कर्मियों के अलावा दो से ढाई सौ नई भर्तियां भी होंगी। नए टीआरएच खोलने के लिए भी कर्मचारी भर्ती के मानक तय कर दिये गये हैं। निगम रामनगर, अल्मोड़ा के 12 काटेज, बिनसर का आधा टीआरएच तोड़कर नया बनाएगा, अथवा पीपीपी में देगा, वहीं ढिकुली में ‘रिवर्स पीपीपी’ मोड में भूमि को 15 वर्षो के लिए लीज पर लेकर कार्य करने को भी मंजूरी दे दी गई है। इस मौके पर एमडी चंद्रेश कुमार, जीएम दीप्ति सिंह, मंडलीय प्रबंधक पर्यटन डीके शर्मा सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।
पर्यटन विकास परिषद में होंगी 220 नियुक्तियां : शर्मा
अगली कैबिनेट बैठक में परिषद के नये ढांचे को मंजूरी मिलने की उम्मीद पांच जोन में बंटेगा प्रदेश, जिलों की बजाय राज्य के 28 स्थानों पर तैनात होंगे अधिकारी
नैनीताल (एसएनबी)। प्रदेश के प्रमुख सचिव राकेश शर्मा ने कर्मचारियों के लिए तरस रहे राज्य के पर्यटन विभाग के मुख्य उपक्रम पर्यटन विकास परिषद में सभी 220 पदों के भरने की बात कही है। उन्होंने दावा किया कि राज्य कैबिनेट की अगली बैठक में इन सभी पद भरने एवं परिषद के नये ढांचे को मंजूरी मिल जाएगी। नये ढांचे में राज्य को जिलों की सीमाओं से हटाकर पांच जोन में बांटा जाएगा। हर जोन में मंडलीय अधिकारी बैठेंगे। जिलों से इतर राज्य में 28 पर्यटक स्थलों को चिह्नित कर वहां अधिकारी तैनात किये जाएंगे। 20 साहसिक खेल केंद्रों पर इतने ही साहसिक खेल अधिकारी तैनात किये जाएंगे, जो उस स्थान की विशेषता के अनुरूप साहसिक खेलों के विकास के लिए कार्य करेंगे। मंगलवार को मुख्यालय आगमन पर स्थानीय बोट हाउस क्लब में आयोजित पत्रकार वार्ता में श्री शर्मा ने यह जानकारी दी। इसके साथ ही उन्होंने राज्य में होने वाली चारधाम यात्रा और नैनीताल जैसे नगरों में सैलानियों को बड़े आकषर्णों में सैलानियों की संख्या को कम किये जाने की आवश्यकता भी जताई। उन्होंने कहा कि सैलानियों को इन स्वाभाविक पसंदीदा जगहों की बजाय अन्य स्थानों पर भेजने से अन्य स्थानों का भी इसी तरह विकास हो सकेगा। इस मौके पर कुमाऊं आयुक्त कुणाल शर्मा, डीएम शैलेश बगौली व केएमवीएन के एमडी चंद्रेश कुमार भी मौजूद थे।
एक टिप्पणी भेजें