You'll also like

मेरे अन्य ब्लॉग

शुक्रवार, 14 सितंबर 2012

केएमवीएन भी चला पीपीपी मोड की राह

   
अनुपयोगी संपत्तियां निजी क्षेत्र को देगा निगम  
देशभर के शहरों में रखे जाएंगे सेल्स एजेंट
नैनीताल (एसएनबी)। कुमाऊं मंडल विकास निगम घाटे में चल रही और लाभ में आने की नगण्य संभावनाओं वाली अपनी कम से कम 14 अनुपयोगी बताई जा रही संपत्तियों को पीपीपी मोड एवं निजी क्षेत्र को देने जा रहा है। इस बाबत निगम के पदेन निदेशक मंडल की बैठक में निर्णय हो गया है। निगम देशभर के शहरों में जनरल सेल्स एजेंट (जीएसए) की तैनाती करने जा रहा है, जिन्हें कारोबार के आधार पर कमीशन दिया जाएगा। शुक्रवार को निगम के सूखाताल स्थित टीआरएच में हुई पदेन निदेशक मंडल की बैठक में यह निर्णय लिये गये। निगम के एमडी दीपक रावत ने बताया कि निगम ने इस वर्ष जुलाई तक 3.83 करोड़ रुपये का लाभ प्राप्त किया है, जोकि गत वर्ष के 3.7 करोड़ से अधिक है। निर्माण कायरे की गुणवत्ता के प्रति ठेकेदारों को जवाबदेह बनाने के लिए उनकी सिक्योरिटी राशि को पांच वर्ष तक के लिये निगम एफडी के रूप में अपने पास रखेगा। कमी आने पर सिक्योरिटी जब्त कर ली जाएगी। निगम का वर्ष 2002-03 से ऑडिट नहीं हुआ है, अब 31 दिसंबर तक 05-06 तक का ऑडिट करा लेने के आदेश दिये गये हैं। टीआरएच के अतिरिक्त चंपावत की लीसा फैक्टरी, हल्द्वानी की सरस मार्केट, दीनापानी अल्मोड़ा का क्राफ्ट सेंटर व ताड़ीखेत की निगम की अनुपयोगी पड़ी संपत्तियों को निजी क्षेत्र में देगा। पर्यटन विभाग की कुछ संपत्तियों को पीपीपी मोड में दिये जाने की भी निगम संस्तुति करेगा। नोएडा में सरकार से वर्षो पूर्व अपने कारपोरेट ऑफिस के लिये लीज पर ली गई संपत्ति पर भवन निर्माण के लिए शासन से एकमुश्त धन की मांग की जाएगी। बैठक में निगम के अध्यक्ष किरन मंडल, जीएम पर्यटन व गैस प्रकाश चंद्र, जीएम निर्माण एसके श्रीवास्तव, वित्त अधिकारी डीएस बोनाल व कंपनी सेक्रेटरी अनिल आर्य शामिल रहे।  

हल्दूचौड़ की जगह सितारगंज में बनेगा गैस प्लांट  
नैनीताल। हल्दूचौड़ स्थित आईओसी का 300 मीट्रिक टन क्षमता का गैस प्लांट वर्तमान की एक हजार एमटी गैस की जरूरत के सापेक्ष बहुत छोटा पड़ गया है। इससे गैस आपूर्ति होनी संभव नहीं है। लिहाजा सितारगंज के सिडकुल क्षेत्र में नया गैस प्लांट बनाने पर विचार चल रहा है। निगम के अध्यक्ष किरन मंडल ने यह जानकारी दी।  
एक टिप्पणी भेजें