You'll also like

मेरे अन्य ब्लॉग

रविवार, 5 जून 2011

श्रीनगर के बाद देश का दूसरा ’ग्रीन‘ राजभवन बना 'नैनीताल राजभवन'


राष्ट्रपति का कार्यक्रम स्थगित होने के बाद राज्यपाल ने किया सौर ऊर्जा संयंत्र का लोकार्पण
नैनीताल (एसएनबी)। विश्व पर्यावरण दिवस पर राज्यपाल मार्गरेट आल्वा ने नैनीताल राजभवन नैनीताल में ‘वर्षा जल सिंचन संरचना’ के तहत विशाल टैंक एवं सौर ऊर्जा संयंत्र का उद्घाटन किया। पहले यह कार्यक्रम राष्ट्रपति प्रतिभा देवी सिंह पाटिल के हाथों संपन्न होना था। इस मौके पर राज्यपाल ने राजभवन परिसर में कदम्ब तथा राज्य वृक्ष ‘बुरांश’ के पौधों का रोपण भी किया। इस दौरान संस्कृति विभाग की ओर से ‘बीट्स ऑफ उत्तराखंड’ की मनमोहक प्रस्तुति भी दी गई। इसके साथ ही नैनीताल राजभवन श्रीनगर के बाद देश का दूसरा ‘ग्रीन राजभवन’ हो गया है। 
उल्लेखनीय है कि ‘ग्रीन नैनीताल राजभवन’ परिकल्पना के तहत नैनीताल राजभवन में परंपरागत ऊर्जा का प्रयोग समम्प्त करने की योजना है. इसी कड़ी मैं केंद्रीय वैकल्पिक ऊर्जा मंत्रालय से मिले धन से राजभवन के प्राकृतिक सौन्दर्य, पर्यावरण और हरीतिमा की निरंतरता के लिए वर्षा जल संचयन पण्राली का सुदृढ़ीकरण किया गया है। इसके तहत राजभवन गोल्फ क्लब परिसर में वर्षा जल संग्रहण हेतु बनाए गए 24 लाख लीटर के टैंक, सोलर स्ट्रीट लाइट व विंड मिल आदि कायरे का औपचारिक शुभारंभ किया गया। राज्यपाल ने कहा कि इन प्रबंधों के बाद नैनीताल राजभवन कश्मीर के बाद देश का दूसरा ‘ग्रीन राजभवन’ हो गया है। आगे राजभवन को पूरी तरह सौर ऊर्जा से रोशन किए जाने की योजना है। वर्षा जल संग्रहण के बाद राजभवन के पूरे गोल्फ कोर्स तथा राजभवन में सिंचाई के लिए नैनी झील से पानी लेने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। राज्यपाल ने बताया कि नैनीताल राजभवन में कश्मीर की तरह बगीचे विकसित करने की भी योजना है। राजभवन की दीवारों व छत आदि के सुदृढ़ीकरण के लिए सात करोड़ रुपये की डीपीआर बनाई गई है। जुलाई आखिर तक एमओयू हस्ताक्षरित कर कार्य शुरू होने की उम्मीद है। उन्होंने राजभवन के पीछे की पहाड़ी के सुदृढ़ीकरण कायरे को भी प्राथमिकता में गिनाते हुए बताया कि सोमवार की सायं साढ़े पांच बजे शहर के प्रमुख व सम्मानित लोगों के लिए आयोजित स्वल्पाहार पर आमंतण्रकार्यक्रम राष्ट्रपति का कार्यक्रम निरस्त होने के बावजूद पूर्ववत ही रहेगा।
ग्रीन प्रबंध के कायरे का ब्योरा
नैनीताल। देहरादून और नैनीताल राजभवन को ‘ग्रीन’ किए जाने के तहत नैनीताल राजभवन में पांच किलोवाट क्षमता का सोलर पावर प्लांट, 1100 लीटर प्रतिदिन पानी गर्म करने की क्षमता का इवेक्यूटेड टय़ूब आधारित सोलर वाटर हीटर संयंत्र, 1.8 किलोवाट क्षमता का सोलन फोटोवोल्टाइक पंप, राजभवन के मुख्य मार्ग में 100 सोलर रोड स्ट्ड, पथ प्रकाश व्यवस्था के लिए 20 सोलर एलईडी स्ट्रीट लाइटें तथा एक किलोवाट क्षमता की पांच विंड पावर जनरेटर तथा देहरादून राजभवन में सात व दो किलोवाट क्षमता के दो सोलर पावर प्लांट, 1400 लीटर प्रतिदिन क्षमता का सोलर वाटर हीटर संयंत्र, 1.8 किलोवाट क्षमता का सोलर फोटोवोल्टाईक पंप, 250 सोलर रोड स्ट्ड्स, दो सोलर पावर डोर फ्रेम मैटल डिटेक्टर, 2500 लीटर प्रतिदिन क्षमता का सोलर पावर वाटर प्यूरीफायर व पांच घन लीटर क्षमता का बायोगैस संयंत्र लगाऐ गये हैं।

एक टिप्पणी भेजें