You'll also like

मेरे अन्य ब्लॉग

शुक्रवार, 3 जून 2011

राष्ट्रपति परिवार सहित कल आएंगी नैनीताल


राज्यपाल ने की राष्ट्रपति के आगमन की घोषणा, 
राजभवन को किसी कार्यक्रम की जानकारी नहीं 
नैनीताल में अवकाश के मूड में होंगी राष्ट्रपति 
कुमाऊंनी क्राफ्ट मेले का आयोजन भी निरस्त
नैनीताल (एसएनबी)। आगामी पांच जून को परिजनों के साथ नैनीताल पहुंच रहीं राष्ट्रपति पूरी तरह प्रकृति की सुंदरता में खो जाना चाहेंगी। वह यहां परिवार के साथ प्रकृति के सानिघ्य में रहना चाहती हैं। नैनीताल राजभवन में अभी तक उनके किसी प्रकार के कार्यक्रम की जानकारी नहीं है। राजभवन ने उनके दर्शनार्थ आयोजित कुमाऊंनी क्राफ्ट मेला भी स्थगित कर दिया है। श्रीमती पाटिल यहां आने वाली चौथी राष्ट्रपति हो जाएंगी। नैनीताल में अब तक केवल पूर्व राष्ट्रपति वीवी गिरी, नीलम संजीव रेड्डी और ज्ञानी जैल सिंह ही अपने कार्यकाल के दौरान आए हैं। अलबत्ता वह राजभवन को ‘ग्रीन’ किए जाने के कायरे का शुभारंभ करेंगी, और उनके स्वागत में राज्यपाल द्वारा ‘पब्लिक सिटीजन रिसेप्सन’ दिया जाएगा। एक घंटे के लोक संस्कृति के कार्यक्रम भी आयोजित होंगे। शुक्रवार को राज्यपाल मार्ग्ेट आल्वा राष्ट्रपति के आगमन की औपचारिक घोषणा करते हुए नैनीताल राजभवन में प्रेस से मुखातिब हुई। उन्होंने बताया कि राष्ट्रपति पांच जून को दोपहर के भोजन से पूर्व नैनीताल राजभवन पहुंचेंगी और शाम छह बजे वि पर्यावरण दिवस के मौके पर राजभवन में वष्रा जल संग्रहण हेतु बनाए गए 24 लाख लीटर के टैंक, सोलर स्ट्रीट लाइट व विंड मिल का औपचारिक शुभारंभ करेंगी। उन्होंने बताया कि नैनीताल राजभवन कश्मीर के बाद देश का दूसरा ‘ग्रीन राजभवन’ हो जाएगा। राज्यपाल ने बताया कि एक वर्ष तक मुंबई के प्रिंस ऑफ वेल्स का जीर्णोद्धार करने वाली आभा नारायण लांबा की देखरेख में केंद्र सरकार की जेएनएनयूआरएम योजना के तहत 7.5 करोड़ रुपये से नैनीताल राजभवन के पुनरुद्धार कार्य होंगे। इस दौरान राजभवन बंद रहेगा।


हल्द्वानी-भीमताल मार्ग बंद रहेगा
पांच जून को आएंगी राष्ट्रपति हल्द्वानी से सड़क मार्ग से आने की संभावना
नैनीताल (एसएनबी)। आगामी पांच जून को राष्ट्रपति प्रतिभा देवी पाटिल के आगमन के दौरान नैनीताल-हल्द्वानी राष्ट्रीय राजमार्ग तथा भवाली-भीमताल के मार्ग बंद रहेंगे। हालांकि इसका कारण नहीं बताया गया है, पर माना जा रहा है कि ऐसा राष्ट्रपति के हल्द्वानी में उतरने और हल्द्वानी से सड़क मार्ग से नैनीताल पहुंचने की संभावना के मद्देनजर किया जा रहा है। इस दौरान हल्द्वानी व नैनीताल के बीच तथा पहाड़ से मैदान को आने-जाने वाले भवाली-भीमताल के मार्ग आवागमन के लिए बंद रहेंगे। हल्द्वानी से नैनीताल आने जाने के लिए कालाढूंगी मार्ग का प्रयोग किया जाएगा, जबकि अल्मोड़ा की ओर जाने के लिए सुबह आठ बजे से यातायात क्वारब से आगे पदमपुरी-खुटानी की ओर डायवर्ट कर दिया जाएगा। सुबह साढ़े नौ से साढ़े 11 के बीच हल्द्वानी व नैनीताल के बीच कुछ छोटी बसें चलाई जाएंगी। राष्ट्रपति के आगमन को लेकर नगर में इन दिनों विकास कायरे में अचानक तेजी आ गई है। इन दिनों यहां रात-रात भर उठकर अधिकारी मजदूरों से सड़कों की मरम्मत-डामरीकरण व माल रोड के किनारे की दीवारों की पुताई के कार्य करवा रहे हैं। हालांकि यह भी गौरतलब है कि कायरे की गुणवत्ता बेहद घटिया स्तर के नजर आ रही है। लोवर माल रोड व चिड़ियाघर रोड पर इसी सप्ताह किया गया डामरीकरण उखड़ चुका है। ‘राष्ट्रीय सहारा’ में इस बात खबर प्रमुखता से प्रकाशित हुई थी, जिसके बाद शुक्रवार को पुन: इन मागरे पर डामरीकरण करने की प्रक्रिया चल रही है। उल्लेखनीय है कि बीते वर्षो में सीजन से पूर्व नगर की सड़कों की मरम्मत तथा झील किनारे पुताई होती थी, जो इस वर्ष नहीं की गई।
एक टिप्पणी भेजें